हितचिन्‍तक- लोकतंत्र एवं राष्‍ट्रवाद की रक्षा में। आपका हार्दिक अभिनन्‍दन है। राष्ट्रभक्ति का ज्वार न रुकता - आए जिस-जिस में हिम्मत हो

Friday 28 November 2008

पाटिल से डरते हैं आतंकवादी!


फोटो समाचार- द ट्रिब्‍युन से साभार
भारत के नालायक गृह मंत्री शिवराज पाटिल ने देशवासियों का जीना हराम कर दिया हैं। उनके हाथ निर्दोष लोगों के खून से लाल हो गए हैं। स्वाभिमानी भारत में उन्होंने भय और दहशत का माहौल कायम कर दिया है।

अपने उलुल-जुलूल और रटी-रटायी बयानों के चलते मजाक का पात्र बन चुके शिवराज पाटिल इस बार फिर लोगों के आक्रोश के शिकार बन गए हैं। पाटिल मुंबई में हुए आतंकी हमलों का जायजा लेने कल सुबह मुंबई पहुंचे। लौटने के बाद उन्होंने पत्रकारों से कहा, कामा अस्पताल और रेलवे स्टेशन पर हमला करने वाले आतंकवादी मेरे वहां पहुंचने से पहले ही भाग चुके थे।

9 comments:

सुमो said...

वाह क्या है जबर्दस्त हमारे गृहमंत्री
इस शिवराज पाटिल को तुरन्त नरीमन हाउस, ओबराय होटल और ताज होटल भेज दिया जाय

हमारी सारी समस्याओं का अन्त हो जायेगा, तुरन्त

Suresh Chiplunkar said...

सूमो जी, पाटिल साहब को नरीमन हाऊस के भीतर ही रखा जाये दो दिन तक…

संजय बेंगाणी said...

पाटिल साहब को तो हेलिकोप्टर से उल्टा लटका कर आंतकियों के हवाले कर देना चाहिए. कि भाई तुम तो मरने वाले हो ही जाते जाते एक पूण्य का काम भी कर जाओ.

जयराम दास. said...

हा हा हा हा .....भागते नहीं तो क्या करते बेचारे गरीब आतंकी....पहली बार तो `लौह पुरुष` से पाला पड़ा है उनका....पटेल का नाम रौशन कर रहे हैं पाटिल जी भाई.. वो तो भला हो भद्र पुरुष का कि उन्होंने अपना डिजाइनर सूट नहीं बदला बार-बार.....नहीं तो नानी याद आ जाती आतंकियों की.... इंसा अल्लाह इस सादगी पे कौन ना मर जाए....छीः.

vikas said...

सोनिया, शिवराज और मनमोहन की तिकडी ने देशवासियों से अमन-चैन छीन लिया है। आज देश में चारों ओर हाहाकार मचा हैं। सुरसा सरीखी बढती महंगाई से आम आदमी मर रहा है तो आतंकवाद से सर्वसमाज। हाय री संप्रग सरकार।

Ratan Singh Shekhawat said...

अब तक का सबसे घटिया गृह मंत्री

cmpershad said...

यह तो सरासर इंटेलिजेंस फेलियोर है - आतंकवादी तो ताज में उनका इन्तेज़ार कर रहे थे और हमारे अधिकारी पाटिलजी को कामा अस्पताल ले गए!! उस अधिकार को फौरन सस्पेंड करना चाहिए- हैय्ली इन्टेलिजेंस फेलियोर माइलाड!

Suresh Chandra Gupta said...

यह कैसा ग्रह मंत्री है? जब इस भाई को पता था कि आतंकवादी इस के पहुँचने से पहले ही भाग जाते हैं तो यह ओबेराय, ताज और नरीमन हॉउस क्यों नहीं पहुँचा? इतने लोग मरवा दिए इसने. सजा मिलनी चाहिए इस को न पहुँचने की.

avinash said...

वाह रे हमारे होम मिनिस्टर इनसे बेशमॻ तो आज तक कोई नही हुआ,इस्तीफा भी नही देते,और इनसे भी बडा राज्यभक्त महाराष्ट शिरोमणी राज ठाकरे अपने चूहे के साथ किस बिल मे धुसे है,कहाँ गयी राज्यभक्ति।